Breaking News
राहुल गांधी संग श्रीनगर पहुंचा विपक्ष का डेलिगेशन, एयरपोर्ट पर हंगामा| अरुण जेटली मुखर नेता थे जिन्होंने भारत में स्थायी योगदान दिया, उनका निधन बहुत दुखद है: PM मोदी| जेटली का निधन से बौद्धिक जगत में बड़ा शून्य पैदा हो गया है. परिवार के प्रति संवेदनाः राष्ट्रपति| कांग्रेस पार्टी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन पर दुख जताया| अरुण जेटली के निधन पर ममता बनर्जी बोलीं-वह शानदार वकील और सांसद थे|
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: Real-State
बजट 2019: बीमार है देश की चिकित्सा व्यवस्था, क्या वित्त मंत्री देंगी बूस्टर डोज

'मोदी सरकार ने देश के करोड़ों गरीबों को मुफ्त इलाज के लिए आयुष्मान जैसी महत्वाकांक्षी योजना शुरू की है, लेकिन सच तो यह है कि देश में चिकित्सा सेवा की सेहत खुद खराब है. अस्पतालों, बुनियादी ढांचे और डॉक्टरों की बेहद कमी है. चमकी बुखार से 100 से ज्यादा बच्चों के मरने की भयावह घटना यह साबित करती है कि स्वास्थ्य व्यवस्था में आमूल बदलाव किए बिना कोई भी इलाज व्यवस्था कारगर नहीं हो सकती है. अंतरिम बजट में सरकार ने स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 63,298 करोड़ रुपये का आवंटन किया है, लेकिन यह स्वास्थ्य क्षेत्र की जरूरतों के लिहाज से नाकाफी है. इसलिए यह देखना दिलचस्प होगा कि मोदी सरकार 2.0 के पहले बजट में वित्त मंत्री इस सेक्टर में आमूल बदलाव करने के लिए कोई बड़ा कदम उठाती हैं या नहीं.'

Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech