Breaking News
राष्ट्रपति चुनावः NDA उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने ममता बनर्जी से की बात, मांगा समर्थन
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: Bussiness

LIC ने अब तक इन्वेस्टर्स के डूबोए ८७,५०० करोड़ रुपये

नई दिल्ली, सरकारी बीमा कंपनी एलआईसी को शेयर बाजार  में लिस्टिंग के बाद मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है. बाजार में १७ मई को डिस्काउंट पर लिस्ट  होने के बाद ज्यादातर सेशंस में एलआईसी के शेयरों के भाव  गिरे हैं. इस सप्ताह तो कंपनी की हालत और खराब होती दिख रही है. शेयरों में गिरावट का सीधा असर कंपनी की वैल्यूएशन  पर पड़ा है और इसके आईपीओ  में पैसे लगाने वाले इन्वेस्टर्स अब तक ८७,५०० करोड़ रुपये गंवा चुके हैं. लिस्टिंग के बाद पांचवीं सबसे बड़ी कंपनी का दर्जा पाने वाली एलआईसी की वैल्यू अब आईसीआईसीआई बैंक के एमकैप  से भी कम हो चुकी है.

ऑल टाइम लो के पास एलआईसी के शेयर

बुधवार को बीएसई (क्चस्श्व) पर गिरकर ८१०.५५ रुपये पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान यह एक समय ८१७ रुपये तक चढ़ा और ८०८.५५ रुपये के निचले स्तर तक गिरा. एलआईसी का ऑल टाइम लो  लेवल ८०१.५५ रुपये है. इस गिरावट के बाद एलआईसी की वैल्यू कम होकर ५,१२,६७२.६९ करोड़ रुपये पर आ गई. यह आईसीआईसीआई बैंक के ५,२३,३५३.८७ करोड़ रुपये के मार्केट कैप से कम है. इसके साथ ही वैल्यूएशन के हिसाब से एलआईसी अब सातवें नंबर की कंपनी बन गई है.

अब तक इतना गिर चुका एलआईसी स्टॉक

एलआईसी के आईपीओ के लिए ९०२-९४९ रुपये का प्राइस बैंड तय किया गया था. अपर प्राइस बैंड के हिसाब से कंपनी की वैल्यू ६,००,२४२ करोड़ रुपये थी. अभी इसका एमकैप ५,१२,६७२.६९ करोड़ रुपये रह गया है. इस तरह एलआईसी आईपीओ के इन्वेस्टर्स को अब तक ८७,५६९.३१ करोड़ रुपये का नुकसान हो चुका है. पहले ही दिन एलआईसी के शेयर में १३ फीसदी तक की गिरावट आई थी और यह अंतत: ८.६२ फीसदी यानी ८१.८० रुपये गिरकर ८६७.२० रुपये पर सेटल हुआ था. इश्यू प्राइस की तुलना में अभी यह करीब १५ फीसदी गिर चुका है.

एलआईसी ने इन्वेस्टमेंट से कमाए इतने हजार करोड़

इससे पहले कंपनी ने मंगलवार को बताया कि उसने २०२१-२२ में स्टॉक मार्केट के अपने इन्वेस्टमेंट से ४२,००० करोड़ रुपये का प्रॉफिट बुक  किया. यह साल भर पहले के ३६,००० करोड़ रुपये के प्रॉफिट से ज्यादा है. कंपनी के मैनेजिंग डाइरेक्टर राज कुमार  ने बताया था कि एलआईसी अभी करीब ४२ ट्रिलियन रुपये की संपत्ति का प्रबंधन कर रही है और देश की सबसे बड़ी एसेट मैनेजर है. इसके अलावा एलआईसी घरेलू शेयर बाजार की सबसे बड़ी इन्वेस्टर भी है. कंपनी कपनी संपत्तियों का करीब २५ फीसदी हिस्सा शेयर बाजार में लगाती है.


Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech