Breaking News
राहुल गांधी संग श्रीनगर पहुंचा विपक्ष का डेलिगेशन, एयरपोर्ट पर हंगामा| अरुण जेटली मुखर नेता थे जिन्होंने भारत में स्थायी योगदान दिया, उनका निधन बहुत दुखद है: PM मोदी| जेटली का निधन से बौद्धिक जगत में बड़ा शून्य पैदा हो गया है. परिवार के प्रति संवेदनाः राष्ट्रपति| कांग्रेस पार्टी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन पर दुख जताया| अरुण जेटली के निधन पर ममता बनर्जी बोलीं-वह शानदार वकील और सांसद थे|
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: देश
जिले भर में धूमधाम से मनाई गई श्रीकृष्ण जन्माष्टमी

'पीलीभीत। जनपद भर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व हर्षोल्लास से मनाया गया। आधी रात को लोगों ने पूजा अर्चना करके भगवान का भोग लगाया। घंटा घडिय़ाल की गूंज के साथ राधा कृष्ण के जयकारे गुंजायमान होते रहे। पूरनपुर, बीसलपुर, बिलसंडा, न्यूरिया, अमरिया, कलीनगर सहित विभिन्न स्थानों पर कायज़्क्रमों का आयोजन किया गया। पर्व को लेकर काफी उल्लास देखा गया। श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व पर रिजर्व पुलिस लाइन पीलीभीत में हर वर्ष की भांति श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का त्यौहार मनाया गया। कार्यक्रम में पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर, मुख्य विकास अधिकारी रमेशचंद्र पांडे, अपर जिलाधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक रोहित मिश्र, सिटी मजिस्ट्रेट ऋतु पुनिया, क्षेत्राधिकारी नगर धर्म सिंह मार्छाल, क्षेत्राधिकारी सदर योगेन्द्र कुमार आदि लोग उपस्थित रहे। जिनकी उपस्थिति में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। श्री कृष्ण जन्माष्टमी के पावन पर्व के शुभ अवसर पर भगवान श्री कृष्ण से सम्बन्धित सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। इस अवसर पर पुलिस अधिकारी, कर्मचारी व अन्य गणमान्य व्यक्तियों द्वारा सपरिवार उपस्थित होकर श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के भव्य कार्यक्रम का आनंद लिया गया। पुलिस अधीक्षक मनोज कुमार सोनकर द्वारा सभी आगन्तुक महानुभाव के साथ-साथ समस्त मीडिया कर्मियों को उनके सहयोग के लिये धन्यवाद ज्ञापित किया गया। '

बाइक में बस ने मारी टक्कर घायल ग्रामीण की मौत

'पूरनपुर। बीती रात ससुराल से अपने घर जा रहे बाइक सवार ग्रामीण को एक बस ने टक्कर मार दी। इससे वह बुरी तरह घायल हो गया। गढ़वा खेड़ा चौकी पुलिस ने घायल को उपचार के लिए पूरनपुर भेजा। जहां से हालत गंभीर होने पर उसे पीलीभीत रेफर कर दिया गया। बाद में ग्रामीण की मौत हो गई। इससे कोहराम मच गया। पूरनपुर कोतवाली के ग्राम मुजफ्फरनगर निवासी सेवाराम (35) पुत्र हरिराम 1 दिन पूर्व अपनी ससुराल भरकलीगंज गया था। वहां से मोटरसाइकिल से देर शाम वापस लौट रहा था। धनेगा मोड़ से 100 कदम खुटार की तरफ उसकी मोटरसाइकिल में एक अज्ञात बस ने टक्कर मार दी।'

संकरी हुईं शहर की सड़कें, बनी हुई हैं वाहनों की पार्किंग

'पीलीभीत। घर में नहीं खाने को अम्मा चली भुनाने को यह पुरानी कहावत जेहन में आने लगती है, जब शहर की सड़कों पर महंगी गाडिय़ां इसलिए खड़ी हुई दिखाई देती हैं, क्योंकि उनके मालिक ने गाड़ी खरीद तो ली, लेकिन गाड़ी खड़ी करने के लिए उनके पास जगह नहीं है। फैशन के इस दौर में व अपने आप को बड़ा आदमी दिखाने की होड़ में लोग महंगी महंगी गाडिय़ां तो खरीद रहे हैं। लेकिन उनके पास न तो गाड़ी खड़ी करने के लिए कोई व्यवस्था है, न ही वह किराए पर गैराज लेकर अपनी गाडिय़ों को खड़ा करना उचित समझते हैं। क्योंकि ऐसे लोगों का शायद यह मानना है कि सरकारी सड़क उनकी प्राइवेट प्रॉपर्टी है और वह जहां चाहे जब चाहे अपनी गाडिय़ों को पार्क करें। पूरे शहर के हालात ऐसे ही हैं। यहां शहर की किसी भी सड़क पर निकल जाएं दोनों ओर लोगों की गाडिय़ां पार्क की हुई दिखाई देंगी और यह बात नहीं की गाड़ी मालिक गाड़ी खड़ी करके किसी काम को गए हुए हों, बल्कि उनकी गाडिय़ां खड़े करने का स्थान ही वही है। क्योंकि महंगी गाडिय़ां खरीद कर अपनी शान बघारने वाले लोगों के पास न तो गाड़ी खड़ी करने की कोई जगह है और न ही उनकी जेब में इसके लिए पैसे हैं, कि वे किराए की कोई जगह लेकर उसमें गाड़ी पार्क करें।'

स्वास्थ्य विभाग में होगी स्क्रीनिंग डीएम ने तलब कीं पत्रावलियां

'पीलीभीत। स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्ट एवं लापरवाह कर्मचारियों एवं अधिकारियों की स्क्रीनिंग होंगी। सरकारी कर्मचारियों की दक्षता सुनिश्चित करने के लिये अनिवार्य सेवानिवृत्ति हेतु स्क्रीनिंग अभी तक स्वास्थ्य विभाग ने नहीं की थी। आखिरकार ऐसे महत्वूपर्ण आदेश को इतने अधिक समय तक क्यों दबाया गया। इसमें कई अधिकारियों की गर्दनें तो फंसेंगी, साथ ही कई भ्रष्ट अधिकारियों एवं कर्मचारियों पर गाज भी गिरनी तय है। डीएम ने सीएमओ से जल्द ही इस प्रकार के प्रकरणों की पत्रावलियां उपलब्ध कराये जाने को कहा है। बता दें कि प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री की कार्यप्रणाली ने सरकारी महकमे के भ्रष्ट अधिकारियों एवं कर्मचारियों की नींद उड़ा कर रख दी है। केन्द्र में जहां मोदी ने कई भ्रष्ट आईएसए से लेकर कई कर्मचारियों की छुट्टी कर दी। वहीं उसी तर्ज पर प्रदेश सरकार ने अपना कार्य शुरू कर दिया। सरकार की ओर से जुलाई 2017 में शासनादेश जारी किया गया था कि सरकारी सेवकों की दक्षता सुनिश्चित करने के लिये सरकारी कर्मचारियों को अनिवार्य सेवानिवृत्ति हेतु स्क्रीनिंग करायी जाये। '

Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech