Breaking News
लखनऊ के मुमताज पीजी कॉलेज में होगी AIMPLB की बैठक| AIMPLB की बैठक की जगह बदलना साजिश का हिस्सा: मोहसिन रजा| हिमाचल प्रदेश: मंडी जिले में खाई में गिरी कार, 3 लोगों की मौत|
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: देश
बढ़ते अपराधों के विरोध में धरने पर बैठे सपाई

'बरेली। प्रदेश में कानून व्यवस्था बदहाल है। अपराध बढ़ते जा रहे हैं। बेरोजगार परेशान हैं। किसानों को खाद व बीज उपलब्ध नहीं कराया जा रहा। ऐसी ती तमाम मांगों को लेकर सपाइयों ने तहसील मुख्यालयों पर धरना दिया। समस्याओं के समाधान की मांग की। सेठ दामोदर स्वरुप पार्क पर धरने पर बैठे सपाइयों का कहना है कि बिजली के दामों में बेतहाशा वृद्धि कर दी गई है। उसे वापस लिया जाए। मोटर वाहन अधिनियम में जुर्माने के नाम पर जनता को लूटा जा रहा है। पेट्रोल और डीजल के दाम बढऩे से अन्य वस्तुए भी महंगी हो गई हैं। बच्चियों से बलात्कार की घटनाएं बढ़ रही हैं। खुलेआम लूट और हत्याएं हो रही हैं। सांसद आजम खां व उनके बेटे अब्दुल्ला आजम पर फर्जी मुकदमे दर्ज कराए गए हैं। उनके परिवार का उत्पीडऩ बंद किया जाए। समाजवादी सरकार में तैयार हो चुके तीन सौ बैड के सुपरस्पेशलिटी अस्पताल को चालू कराया जाए। लालफाटक व आईवीआरआई पुल का काम जल्द पूरा कराया जाए। हवाई अड्ढा जल्द शुरू कराया जाए।'

उर्स से पहले ही शुरू कर दिया चौपुला ओवरब्रिज का निर्माण

'बरेली। चौपुला ओवरब्रिज का निर्माण आखिरकार शुरू करा ही दिया गया। चौकी चौराहे की तरफ जाने वाले लोगों के लिए वाएं रास्ता पूरी तरह से बंद कर दिया गया है। ओवरब्रिज का निर्माण लम्बे समय तक चलने की संभावना है। हर साल की तरह इस बार भी राहे आला हजरत का तीन दिवसीय उर्स २३ अक्टूबर से शुरू होगा और २५ अक्टूबर को कुलशरीफ की रस्म अदा होगी। तीन दिन तक चलने वाले उर्स में विदेशों से भी जायरीन आएंगे। कुलशरीफ के दौरान लाखों की संख्या में जायरीन की भीड़भाड़ होगी। चौपुला से चौकी चौराहे की तरफ जाने वाले दो पहिया और चार पहिया वाहनों पर प्रतिबंध से अयूब खां की तरफ जाने केलिए एक ही रास्ता है। वह भी उर्स के दिनों में बंद कर दिया जाता है। ऐसे में चौपुला चौराहे पर भीषण जाम से लोगों का फंसना तय माना जा रहा है। '

तहसील दिवस में सबसे ज्यादा शिकायतें पीएम आवास को लेकर

'बरेली। तहसील दिवस में एसडीएम सदर ने ग्रामीणों की समस्याएं सुनकर संबंधित लेखपालों को निस्तारण केनिर्देश दिए। दोपहर बारह बजे तक सबसे अधिक शिकायतें पीएम आवास और जमीन की पैमाइश को लेकर आई थीं। पीएम आवास की शिकायतों को नगर निगम के माध्यम से निराकरण कराने का आश्वासन दिया गया। दोपहर तक ६८ लोगों ने शिकायत की थी। इस महीने के पहले मंगलवार को तहसील दिवस में सुबह दस बजे से ही लोगों की भीड़ जमा होने लगी। लोगों की सुविधा केलिए बनाया गया सहायता केन्द्र पर लोगों ने कागजों की जांच करवाकर उस पर मुहर लगवाने के बाद सभागार में बैठे एसडीएम सदर अमरेश कुमार को समस्या केबारे में अवगत कराया।'

गांधी जयंती विशेष. कलीम अतहर के पास है महात्मा गांधी पर आधारित दुर्लभ संग्रह

'पीलीभीत। कोई भी शौक जब तक मन की गहराईयों की हद पार कर ले तो वह शौक नहीं जुनून हो जाता है। दुर्लभ चीजों का संग्रह करना भी कोई आसान नहीं होता। उसमें भी किसी एक विषय पर संग्रह हो तो उसे देखकर संग्रह करने की लगन का भी अंदाजा होता है। ऐसे ही जुनूनी हैं शहर के युवा कलीम अतहर खान जिनके पास विभिन्न दुर्लभ चीजों का संग्रह है। इसी संग्रह के क्रम में कलीम ने महात्मा गाँधी से प्रेरित होकर उनके जीवन व उनसे जुड़ी चीजों का संग्रह करना शुरू कर दिया। जो आज काफी विस्तृत हो चुका है। शहर के सिविल लाइंस नॉर्थ में रहने वाले मानवाधिकार कार्यकर्ता कलीम ने अपने विभिन्न संग्रह की कड़ी में महात्मा गांधी को भी जोड़ लिया है। श्री खां के संग्रह में महात्मा गाँधी की पीतल, ताँबा, लकड़ी, अष्टधातु, डेक्च्यून, प्लास्टर ऑफ पेरिस, चाँदी आदि की विभिन्न प्रकार की मूर्तियां है। गाँधी वाली पॉकेट घड़ी, गाँधी के चित्र वाला क्रिस्प बैज, गाँधी के चित्र वाले कप हैं।'

डीआईओएस ने जांच करने से किया इंकार

'पीलीभीत। स्थानीय सिद्दीक नेशनल इंटर कॉलेज की प्रबंध समिति के चुनाव को लेकर एक बार फिर विवाद खड़ा हो गया है। मामले की शिकायत पर डीएम ने जिला विद्यालय निरीक्षक को जांच के आदेश दिए थे, लेकिन मामला संयुक्त शिक्षा निदेशक से जुड़ा होने के कारण जिला विद्यालय निरीक्षक में जांच करने से असमर्थता जता दी है। उन्होंने डीएम को पत्र लिखकर पूरी स्थिति से अवगत कराया है। शहर के प्रमुख सिद्दीक नेशनल इंटर कॉलेज के प्रबंध समिति को लेकर दशकों से विवाद चला आ रहा है। इस पर वर्चस्व को लेकर सुप्रीम कोर्ट तक जंग जारी है। जिला विद्यालय निरीक्षक संत प्रकाश के अनुसार सुप्रीम कोर्ट के स्पष्ट आदेश रहे हैं कि कालेज के लिए कंट्रोलर किया जाए। उन्होंने बताया कि कालेज के कंट्रोलर हैं। उधर संयुक्त शिक्षा निदेशक ने प्राचार्य को प्रबंध समिति के चुनाव कराने के लिए आदेश दिए थे। '

साहित्यकार अर्चना खंडेलवाल को मिला नेशनल वी एवार्ड

'पीलीभीत। शहर की साहित्यकार अर्चना खंडेलवाल अर्ची को नेशनल वी एवार्ड से सम्मानित किया गया है। दिल्ली द्वारिका रामलीला मैदान में आयोजित द्वितीय नेशनल वी अवार्ड 2019 कार्यक्रम में उन्हें रमेश चन्द्र खंडेलवाल और कालीचरण कोडिया द्वारा को साहित्य और समाज सेवा के क्षेत्र मे सम्मानित किया गया। देश की 70 महिलाओ ने समाज के विभिन्न क्षेत्रों मे यह गौरव प्राप्त किया। इससे पूर्व श्रीमती खंडेलवाल गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा के द्वारा सम्मानित हो चुकी हैं।'

बिहारीपुर में दफन हैं महात्मा गांधी की अस्थियां

'बरेली। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की समाधि दिल्ली के राजघाट के अलावा बरेली के बिहारीपुर मोहल्ले में भी है। ३० जनवरी १९४८ को उनकी अस्थियां बरेली में लाई गई थीं। बापू की अस्थियों को यहां महात्मा गांधी स्मारक में चांदी के कलश में रखकर दफन किया गया। उसी दौरान महात्मा गांधी स्मारक बनवाया गया। अब कई दशकों से स्मारक बदहाल पड़ा गया। उसकी मरम्मत तक नहीं कराई जा रही। दो अक्टूबर को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती मनाई जाती है। इस दिन जहां देशभर में सरकारी छुट्टी रहती है तो वहीं स्कूल-कॉलेजों में सांस्कृतिक कार्यक्रम मोहनदास करमचंद गांधी के सम्मान में रखे जाते हैं। अपने शहर के बहुत कम लोग जानते होंगे कि दिल्ली के राजघाट के अलावा महात्मा गांधी की अस्थियां बरेली के बिहारीपुर में स्थित स्मारक में भी दफन हैं। यहां महात्मा की प्रतिमा भी स्थापित की गई है। इसी वजह से इस चौराहे का नाम गांधी मूर्ति पड़ गया। महात्मा गांधी स्मारक समिति के पूर्व सदस्य धर्म प्रकाश वैश्य ने बताया कि राष्टï्रपिता के बलिदानी शरीर की भस्म राजघाट दिल्ली से बिहारीपुर के भूप नारायण आर्या ३० जनवरी १९४८ को लेकर आए थे। इन अस्थियों को उन्होंने बिहारीपुर में दफन किया। उनकी समाधि बनवाई। बाद में १९७०-७१ में गांधी जी के प्रथम शताब्दी समारोह के मौके पर तत्कालीन मंत्री रहे बाबू सूर्य प्रकाश एडवोकेट ने यहां पक्का स्मारक बनवाया था। उसमें गांधी जी की संगमरमर की मूर्ति भी लगवाई गई थी। शुरुआती सालों में भी महात्मा गांधी स्मारक समिति इसकी देखभाल करती है लेकिन अब पिछले कई दशकों से यह स्मारक बदहाल पड़ा है। '

बिजली कनेक्शन के साथ मुफ्त नहीं दे रहे तार

'बरेली। शासन ने नये कनेक्शनधारकों के लिए मुफ्त तार सुविधा उपलब्ध कराई है। बिजली विभाग लोगों को तार उपलब्ध कराने के बजाए उपभोक्ताओं से स्वयं तार मंगवाया जा रहा है। जब कोई कनेक्शनधारक शासनादेश की बात करता है तो लाइनमैन सीधे तौर पर जेई या एसडीओ से बात करने की बात कहकर कनेक्शन जोडऩे से इंकार कर देते हैं। अफसरों के चक्कर काटने के झंझट से बचने को कनेक्शनधारक बाजार से तार मंगाकर कनेक्शन जुड़वा लेते हैं। जगतपुर में रहने वाले मोहम्मद हारून ने बताया कि उनका मकान दो सौ गज में है। निकाह होने के मकान में बंटवारा कर दिया गया। बंटवारे के बाद हारून ने दो किलोवॉट कनेक्शन के लिए अप्लाई किया था। कनेक्शन शुल्क जमा करने व जेई की रिपोर्ट लगने केबाद लाइनमैन मीटर लगाने के लिए आया तो उसने तार लाने की बात कही। इस पर हारून ने तार तो विभाग की तरफ से मिलना चाहिए। इस पर लाइनमैन ने जेई साहब से बात करने के लिए कहा कि जेई का फोन न उठने पर लाइनमैन जाने लगा। '

बलिया जेल में भरा बारिश का पानी. 500 कैदी दूसरे जिलों में शिफ्ट

'बलिया। पांच दिन से लगातार हो रही बारिश से जिले के २०० से अधिक गांव जलमग्न हो गए। जेल परिसर में भी घुटनों तक पानी भर गया। इसके बाद जेल प्रशासन ने ५०० कैदियों को दो अन्य जिलों की जेलों में शिफ्ट किया। जेल में ९०० कैदी निरूद्ध: भारी बारिश के कारण जेल में अधीक्षक कार्यालय से लेकर बैरकों तक में जलभराव है। इसे देखते हुए जेल अधीक्षक ने डीएम व जेल के अधिकारियों से बात करके कुछ कैदियों को अन्य जेलों में शिफ्ट कराने की मांग की। इजाजत मिलने के बाद जेल प्रशासन ने कैदियों की शिफ्टिंग शुरू कर दी है। अतिरिक्त जिला मजिस्ट्रेट राम आसरे के मुताबिक ५०० कैदियों को आजमगढ़ व अन्य कैदियों को अंबेडकरनगर जेल स्थानांतरित किया गया। इनमें ४५ महिला कैदी भी शामिल हैं। एआरटीओ ने कैदियों को ले जाने के लिए जेल प्रशासन को आधा दर्जन से अधिक रोडवेज बसें मुहैया कराई। जेल प्रशासन बचे हुए कैदियों के लिए फोल्डिंग चारपाई की व्यवस्था की करा रहा हैै। '

होमगार्डों ने किया कार्य बहिष्कार

'बरेली। उत्तर प्रदेश होमगाडर््स अवैतनिक अधिकारी व कर्मचारी एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष गुरपाल सिंह के नेतृत्व में आज सेठ दामोदर पार्क में बड़ी संख्या में होमगार्डो ने कार्यबहिष्कार कर एक जुटता दिखाई। जिलाध्यक्ष गुरपाल सिंह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में जब से भाजपा सरकार आई है। होमगार्डो केहित के बारे में सोचा जाने लगा है। भत्ते से लेकर सुविधाएं भी मुहैया कराने पर जोर दिया जा रहा है लेकिन १६५१९ होमगार्डों की ड्यूटियां कम कर दी गई हैं। होमगार्ड बेरोजगारों की स्थिति में पहुंच गए हैं।'

Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech