Breaking News
मुंबई: PMC बैंक ग्राहक की हार्ट अटैक से मौत, विरोध प्रदर्शन में हुआ था शामिल
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: State

बिजली कनेक्शन के साथ मुफ्त नहीं दे रहे तार

बिजली कनेक्शन के साथ मुफ्त नहीं दे रहे तार

बरेली। शासन ने नये कनेक्शनधारकों के लिए मुफ्त तार सुविधा उपलब्ध कराई है। बिजली विभाग लोगों को तार उपलब्ध कराने के बजाए उपभोक्ताओं से स्वयं तार मंगवाया जा रहा है। जब कोई कनेक्शनधारक शासनादेश की बात करता है तो लाइनमैन सीधे तौर पर जेई या एसडीओ से बात करने की बात कहकर कनेक्शन जोडऩे से इंकार कर देते हैं। अफसरों के चक्कर काटने के झंझट से बचने को कनेक्शनधारक बाजार से तार मंगाकर कनेक्शन जुड़वा लेते हैं।  

जगतपुर में रहने वाले मोहम्मद हारून ने बताया कि उनका मकान दो सौ गज में है। निकाह होने के मकान में बंटवारा कर दिया गया। बंटवारे के बाद हारून ने दो किलोवॉट कनेक्शन के लिए अप्लाई किया था। कनेक्शन शुल्क जमा करने व जेई की रिपोर्ट लगने केबाद लाइनमैन मीटर लगाने के लिए आया तो उसने तार लाने की बात कही। इस पर हारून ने तार तो विभाग की तरफ से मिलना चाहिए। इस पर लाइनमैन ने जेई साहब से बात करने के लिए कहा कि जेई का फोन न उठने पर लाइनमैन जाने लगा। 

मजबूरन उन्हें अपनी जेब से बीस मीटर तार मंगाया तो पोल से कनेक्शन जोड़ा गया। वहीं किला छावनी में रहने वाले रवि कश्यप ने बताया कि चार सितंबर को कनेक्शन के लिए फार्म जमा किया था। रिपोर्ट लगने के बाद फीस जमा करने के बाद पोल से लाइन खींचने की बात आई तो लाइनमैन ने इनसे भी बीस मीटर तार लाने की बात कही। बाजार से तार मंगवाने पर ही कनेक्शन जोड़ा गया। बता दें कि सरकार ने कनेक्शन धारकों केलिए कनेक्शन देते वक्त विभाग द्वारा ही तार उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। 


Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech