Breaking News
हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओम प्रकाश चौटाला तिहाड़ जेल से रिहा| पाकिस्तान: भारतीय उच्चायोग में दिखा ड्रोन, भारत ने सुरक्षा उल्लंघन का मुद्दा उठा जताया कड़ा ऐतराज| पंजाब: सिद्धू के घर का बिजली का बिल बाकी, 9 महीने के 8 लाख से अधिक रुपये बकाया| पश्चिम बंगाल विधानसभा सत्र के पहले दिन हंगामा, चुनावी हिंसा को लेकर बीजेपी ने सदन में लगाए नारे|
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
1 जुलाई से 8 अहम बदलावों के लिए रहें तैयार, बैंकिंग होगी महंगी और लर्निंग लाइसेंस बनवाना होगा आसान

'एक जुलाई से नया महीना शुरू हो रहा है। नए महीने शुरू होने के साथ ही बैंकिंग, टीडीएस, लाइसेंस से लेकर कैश निकालने तक के नियमों में कई बड़े बदलाव हो रहे हैं, जिनका सीधा असर आपके के जीवन पर पड़ने वाला है। हम आपको ऐसे बदलावों के बारे में बता रहे हैं जिनका असर आप पर पड़ेगा। 1. एसबीआई से बैंकिंग होगी महंगी भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के ग्राहकों को 1 जुलाई से नकद निकासी और चेक इस्तेमाल के लिए अधिक पैसे देने होंगे। एसबीआई अगले महीने की पहली तारीख से नियम में बदलाव करने जा रहा है। एसबीआई ग्राहकों को बैंक से चार बार से ज्यादा पैसा निकालने पर अतिरिक्त चार्ज देना होगा जिसमें बैंक के एटीएम भी शामिल हैं। चार बार पैसा निकालने के बाद हर निकासी पर आपको 15 रुपये और जीएसटी जोड़ कर शुल्क देना होगा।'

मोदी सरकार के राहत पैकेज से जानें किसको कितना होगा फायदा

'वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कोरोना महामारी की दूसरी लहर से बुरी तरह प्रभावित अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए आठ बड़े राहत उपायों की घोषणा की। उन्होंने कहा कि इनमें चार बिल्कुल नए हैं। वित्त मंत्री ने पहली और दूसरी लहर से प्रभावित सेक्टर्स के लिए 1.1 लाख करोड़ रुपये की क्रेडिट गारंटी योजना की घोषणा की गई। इसमें स्वास्थ्य क्षेत्र के लिए 50,000 करोड़ रुपये और दूसरे क्षेत्रों के लिए 60,000 करोड़ रुपये की सहायता देने की घोषणा की गई। वहीं, कुल 6.29 लाख करोड़ रुपये के प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा की गई।'

अपरेंटिस कानून में बदलाव की तैयारी, कंपनियों को होगा फायदा

'नौकरी के दौरान प्रशिक्षण (अपरेंटिसशिप) से बडे पैमाने पर देश के युवाओं का कौशल विकास होगा। इसे देखते हुए अपरेंटिसशिप के लिए सरकार कानून में बडे बदलाव की तैयारी कर रही है। सूत्रों का कहना है कि सरकार संसद के मानसून सत्र में अपरेंटिस कानून में बदलाव से जुड़े बिल को मंजूरी के लिए ला सकती है। सूत्रों का कहना है कि कौशल विकास मंत्रालय इस मुद्दे पर हितधारकों से राय-मशविरा कर रहा है। इस नए कानून में कंपनियों को 15 फीसदी अपरेंटिस स्टाफ लेने की मंजूरी दी जाएगी जो अभी 10 फीसदी ही है। इस बदलाव से कंपनियों को कुशल कामगार तैयार करने में सहूलियत होगी। साथ ही कर्मचारी पर खर्च घटाने में भी मदद मिलेगी।'

सोने-चांदी के रेट में भारी गिरावट, 42844 रुपये पर आया 22 कैरेट गोल्ड

'सर्राफा बाजार में सोने-चांदी के भाव में आज भी गिरावट देखी जा रही है। मंगलवार के मुकाबले आज यानी बुधवार को 24 कैरेट गोल्ड की औसत कीमत 235 रुपये गिरकर 46773 रुपये पर खुली, वहीं चांदी 59 रुपये कमजोर होकर 67747 रुपये प्रति किलोग्राम के रेट से खुली। बता दें अमेरिकी फेडरल रिजर्व के रुख में बदलाव के कारण नवंबर 2016 के बाद से सोने की कीमतों के लिहाज से यह महीना काफी खराब रहा। 12:31 बजे तक हाजिर सोना 1,761.80 डॉलर प्रति औंस पर स्थिर था। अमेरिकी सोना वायदा 0.1% गिरकर 1,761.80 डॉलर पर आ गया।'

आर्थिक तंगी की गिरफ्त में 40 फीसदी शहरी आबादी, तीन महीने में स्थिति ज्यादा नाजुक हुई

'कोरोना महामारी की दूसरी लहर लाखों लोगों को आर्थिक तंगी की गिरफ्त में ला दिया है। इस बार गांवों के मुकाबले शहरी आबादी पर ज्यादा बुरा असर देखने को मिला है। यूगोव की सर्वे रिपोर्ट के अनुसार, दूसरी लहर के बाद पांच में से दो शहरी आबादी की आर्थिक स्थिति बिगड़ी है। यानी 40 फीसदी लोग आर्थिक तंगी का सामना कर रहे हैं। यूगोव द्वारा सर्वे में शामिल लोगों ने माना है कि बीते तीन महीने में उनकी वित्तीय स्थिति ज्यादा नाजुक हुई है। हालांकि, लोगों का मानना है कि देश में कोरोना के मामले में तेजी से सुधार हो रहा है इसके बावजूद दस में से सात लोग अपने पर्सनल फाइनेंस प्रभावित होने से चिंतित हैं। सर्वे में शामिल पांच में से दो उत्तरदाताओं ने कहा कि उनकी वित्तीय स्थिति पिछले तीन महीनों में खराब हुई है, जबकि लगभग एक तिहाई (32%) में कोई बदलाव नहीं हुआ है।'

Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech