Breaking News
राहुल गांधी संग श्रीनगर पहुंचा विपक्ष का डेलिगेशन, एयरपोर्ट पर हंगामा| अरुण जेटली मुखर नेता थे जिन्होंने भारत में स्थायी योगदान दिया, उनका निधन बहुत दुखद है: PM मोदी| जेटली का निधन से बौद्धिक जगत में बड़ा शून्य पैदा हो गया है. परिवार के प्रति संवेदनाः राष्ट्रपति| कांग्रेस पार्टी ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली के निधन पर दुख जताया| अरुण जेटली के निधन पर ममता बनर्जी बोलीं-वह शानदार वकील और सांसद थे|
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: Fitness

इन बीमारियों का रामबाण इलाज है सरसों, ये हैं इसके अनोखे गुण

सरसों का नाम सुनते ही आपको इसके तेल की याद आती होगी जो रोजाना हमारे किचन में इस्तेमाल होता है या इसके छोटे-छोटे काले दानों की तस्वीर सामने आती होगी जो बतौर मसाला खूब इस्तेमाल किया जाता है। वैसे सरसों का बॉलीवुड से भी गहरा नाता है, जो आपनो फिल्मी गानों में देखा ही होगा। बहरहाल, आज हम पीले सरसो में कुछ ऐसे चमत्कारी गुण बताएंगे जिन्हे जानकार आप इससे और करीब हो जाएंगे।

आपने इसकी फलियों के बारे में ज्यादा नहीं सुना होगा। इन फलियों में अनेक औषधीय गुण पाए जाते हैं। वैज्ञानिक शोध पत्रिका 'लांसेट' में प्रकाशित एक क्लीनिकल स्टडी के अनुसार, सरसों की फलियां हमारे शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में काफी मददगार साबित हो सकती है। 

शोध के दौरान, अक्सर बीमार रहने वाले लोगों के एक समूह को इसकी फलियों का सेवन 15 दिनों तक लगातार करवाया गया और परिणाम देखने पर पाया गया कि इन लोगों की रोगप्रतिरोधक क्षमता में काफी सुधार हुआ।

जानकारी के लिए बता दें कि, मध्यप्रदेश के पातालकोट घाटी के इलाकों में कई सालों से सरसों की फलियों की सब्जी और चटनी का उपयोग कमजोर लोगों में ताकत बढ़ाने के लिए किया जाता है। सरसों की करीब 5-6 फलियों को रोज रात सोने से पहले चबाकर खाने से पेट के कीड़े मर जाते हैं। 

दांतों से जुड़ी समस्याओं जैसे पायरिया और मसूड़ों की सूजन की परेशानी होने पर सरसों की फलियों को चबाना चाहिए। कई जगह तो आटा गूंथते समय उसमें सरसों के छोटे पीले फूलों को भी डाले जाते हैं। 

 


Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech