Breaking News
कानपुर टेस्ट: दूसरी पारी में भारत का छठा विकेट गिरा, अश्विन 32 रन बनाकर आउट
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: जरा हटके ..

शख्स ने जिसे समझा सोना, वो निकला उससे भी बड़ा बेशकीमती खजाना

नई दिल्ली । कब किसकी किस्मत कैसे चमक जाए, ये लकीरों का खेल है. ऑस्ट्रेलिया   के मेलबर्न में रहने वाले एक शख्स के साथ भी ऐसा ही हुआ. उसके हाथ एक ऐसा खजाना  लगा है, जिसकी कीमत का अंदाज़ा (4.6 billion year old meteorite) लगाना भी मुश्किल है. शख्स को पहले तो लगा कि ये सोने का पत्थर है, लेकिन उसकी सच्चाई इससे भी कहीं ज्यादा बेशकीमती  थी.

साल 2015 में डेविड होल को पीले रंग का भारी पत्थर मेलबर्न के पास मैरीबोरो रीजनल पार्क  में मिला था. ये जगह 19वीं सदी में काफी मशहूर थी. इस जगह पर पहले अच्छी मात्रा में सोना पाया जाता था, ऐसे में डेविड को भी लगा कि उनके हाथ एक सोने का पत्थर लग गया है. उन्होंने पत्थर को 6 साल तक अपने पास ही रखा.

म्यूज़ियम चलेकर पहुंचे तो खुली सच्चाई
डेविड होल ने पत्थर के हाथ लगने के 6 साल बाद तक इसे घर में रखा. कई बार इसे तोड़ने की कोशिश भी की, लेकिन ये नहीं टूटा. आखिरकार वे इसे लेकर मेलबर्न म्यूज़ियम में पहुंचे. जब म्यूज़ियम के लोगों ने उसके हाथ में ये पत्थर देखा, तो वे हैरान रह गए. दरअसल ये पत्थर अरबों साल पुराना एक उल्कापिंड है. सिडनी मॉर्निंग हेरल्ड से बाद करते हुए म्यूज़ियम के वैज्ञानिक डेरमोट हेनरी ने बताया कि उन्हें अब तक सिर्फ 2 ही असली उल्कापिंड हासिल हुए हैं.

4.6 अरब साल हो सकती है उल्कापिंड की उम्र
डेरमोट हेनरी के मुताबिक जिस उल्कापिंड का टुकड़ा हासिल हुआ है, वो मंगल और बृहस्पति ग्रह के बीच स्थित एस्टरॉयड बेल्ट से आया हुआ हो सकता है. इसकी उम्र लगभग 4.6 अरब साल बताई जा रही है और इसका वजन 17 किलोग्राम है. माना जा रहा है कि ये सैकड़ों साल पहले धरती पर गिरा होगा. एक उल्कापिंड के ज़रिये वैज्ञानिक सोलर सिस्टम की उम्र, उसके निर्माण और रसायनों के बारे में जानकारी देते हैं.

 


Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech