Breaking News
राष्ट्रपति चुनावः NDA उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू ने ममता बनर्जी से की बात, मांगा समर्थन| एकनाथ शिंदे ने टाला मुंबई जाने का प्लान, अभी गुवाहाटी में ही रुकेंगे| द्रौपदी मुर्मू ने सोनिया गांधी-शरद पवार और ममता बनर्जी से की बात, मांगा राष्ट्रपति चुनाव में समर्थन | एकनाथ शिंदे का दावा- उनके पास शिवसेना के 38 विधायकों का समर्थन| अरविंद केजरीवाल बोले- अग्निपथ योजना हमारे युवाओं और देश के लिए हानिकारक|
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: News

पर्यटकों के लिए कल से बन्द होगा चूका बीच

इस बार आए 17 हजार पर्यटक, आमदनी 38 लाख

पूरनपुर। पीलीभीत टाइगर रिजर्व जंगल और यहां का खूबसूरत चूका पिकनिक स्पॉट 15 जून से पर्यटकों के लिए बंद कर दिया जाएगा। पर्यटक कल शाम तक ही चूका पिकनिक स्पॉट की सैर कर पाएंगे। बंदी को लेकर टाइगर रिजर्व में पर्यटकों की आमद काफी अधिक बढ़ी है। इस बार करीब 17000 पर्यटक पीलीभीत टाइगर रिजर्व पहुंचे और सभी पर्यटन सीजनों से अधिक 38 लाख की आमदनी पर्यटन से हुई है। यह एक बड़ा रिकॉर्ड कायम हुआ है।

पीलीभीत टाइगर रिजर्व प्रति वर्ष 1 नवंबर से खुलता है परंतु इस बार 11 नवंबर 2021 से ही शुरू किया गया था। 15 जून को मानसून सीजन के चलते टाइगर रिजर्व बंद कर दिया जाता है। इस बार भी राष्ट्रीय बाल प्राधिकरण की गाइडलाइन के तहत चूका पिकनिक स्पॉट व टाइगर रिजर्व को 15 जून से बंद किया जा रहा है। दुधवा नेशनल पार्क भी 15 जून से ही बंद होगा। बंदी को लेकर टाइगर रिजर्व में पर्यटकों की संख्या काफी अधिक बढ़ गई है। देशी व विदेशी पर्यटक लगातार टाइगर रिजर्व और चूका पिकनिक स्पाट की सैर करने पहुंच रहे हैं। कल एक साथ प्रदेश सरकार के तीन मंत्री  2 विधायकों के साथ पहुंचे। इसी में प्रदेश भाजपा अध्यक्ष व जनशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह, जलशक्ति राज्य मंत्री रामकृष्ण निषाद और गन्ना विकास व चीनी मिल राज्य मंत्री संजय सिंह गंगवार शामिल रहे। लोगों ने चूका पिकनिक स्पाट की शहर की जलाशय में वोटिंग का नजारा देखा, हटें देखीं। स्वतंत्र देव सिंह को चूका पिकनिक स्पॉट काफी पसंद आया। हालांकि गर्मी अधिक होने के कारण वे करीब आधा घंटे ही यहां पर रुक पाए और उसके बाद गोमती के उद्गम स्थल रवाना हो गए। इस बार मोटे अनुमान के अनुसार करीब 17000 पर्यटक पीलीभीत टाइगर रिजर्व पहुंचे और इनसे लगभग 30 लाख की आमदनी हुई है जो अब तक के सभी पर्यटन शब्दों में सर्वाधिक है।


Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech