Breaking News
कोरोनाः 2 से 18 साल के बच्चों को लगाई जाएगी कोवैक्सीन, सरकार ने दी मंजूरी| सीएम केजरीवाल के घर के पास BJP का प्रदर्शन, सार्वजनिक स्थानों में छठ पूजा की अनुमति की मांग| लखीमपुर हिंसाः मंत्री अजय मिश्रा बोले- निष्पक्ष जांच हो रही है, किसी पर दबाव नहीं है |
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
  • 2
http://wowslider.com/ by WOWSlider.com v8.7
CATEGORY: News

रसूखदारों के आगे निगम-वन विभाग ने टेके घूटने

 

- खुलेआम चल  रही हरे पेड़ों पर आरी, सब जानते हुए भी अफसर बने है अनजान , बुल्डोजर से उखडबाए करीब १० हरे पेड़ 

- पिछले महीने ही इसी कोठी के सामने वाली कोठी के  सामने से रातो रात गिर गए थे दो हरे भरे पेड़ 

बरेली। रसूखदारों की ताकत सरकारी तंत्र पर कितनी हावी है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि रसूखदार अपनी अपनी कोठी केसामने लगे हरे भरे पेड़ों को सरेआम काटकर सबूत मिटा रहेहै और नगर निगम और वन विभाग के अफसर सब कुछ जानते हुए भी मौन बैठे है। इन दिनों स्टेडियम रोड़ पर सडक़ के चौड़ीकरण और नाला निर्माण का कार्य हो रहा है। इसी बहाने कई रसूखदार पहले ही पेड़ों को कटबा चुके है। कुछ दिनों पहले ही संजयनगर स्थित एक रसूखदार ने कोठी केसामने लगे करीब १० हरेभरे पेड़ों को बुल्डोजर से उखड़वा दिया। आलम ये रहा है कि कटे पेडों को लोगों ने तुरंत ही कोठी में छुपा दिया। जिससे की केाई देखे नहीं। इसी रोड पर कई और पेड़ इसी तरह से निशाने पर है। जबकि नगर निगम और वन विभाग इन पेड़ों को ट्रांसलोकेट करने की बात कर रहा है। 

बोले कर्मचारी, कोठी मालिक ने मनमर्जी से कटबाए पेड़ 

कोठी के सामने से ही नाला निर्माण का कार्य चल रहा है। जब पेड़ के काटने का कारण पूछा तो कर्मचारियों ने साफ कहा कि कोठी के मालिक ने ही पेड़ों को कटवाया है। जबकि कर्मचारियों ने पेड़ों को काटने से साफ इंकार किया था। 

आखिर बिल्डर की कोठी केसामने वाले पेड़ ही क्यो है निशाने पर 

 सवाल उठना लाजमी है कि आखिर कोठी केसामने और आस पास के हरे भरे पेड़ों को ही निशाने पर क्यों लिया जा रहा है। रातों रात कोठी केसामने और आसपास के पेड़ ही रात में क्यो गिर रहे है। शहर में बीते कई दिनों में अलग अलग इलाकों से ऐसे ही तस्वीरे सामने आ चुकी है। 

 


Copyright © 2016 | All Rights Reserved. Design By LM Softech